मेडिकल कालेज में एडमिशन के नाम पर लाखों की ठगी

February 14,2020

 शहर में आये दिन ठगी के मामले सामने आते है, ऐसा ही फिर एकमामला सामने आया है।

नागपुर : शहर में आये दिन ठगी के मामले सामने आते है, ऐसा ही फिर एकमामला सामने आया है। शहर के मेडिकल कॉलेज में एडमिशन दिलाने के नाम पर एक महिला डॉक्टर से लाखों रुपए लेने का प्रकरण सामने आया है। यह प्रकरण उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का है। पीड़ित और आरोपी दोनों गोरखपुर के ही रहने वाले हैं। अब जांच का जिम्मा नागपुर के बर्डी पुलिस को मिला है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गोरखपुर के राप्ती नगर स्थित पत्रकारपुरम निवासी डॉ रीता पी गौतम (४८) को अपनी बेटी को नागपुर मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस कराना था। इसलिए डॉ। रीता जुगाड़ में लगी हुई थीं। यह पूरा मामला २० सितंबर २०१८ से सात अक्टूबर २०१९ के बीच का है। इसी दौरान डॉ. रीता गोरखपुर के शाहपुर निवासी उमेश डोंगरे और प्रयागराज निवासी आयुष पांडे के संपर्क में आईं। आरोप है कि इन दोनों ने डॉ। रीता को मैनेजमेंट कोटे से उनकी बेटी के एडमिशन का आश्वासन दिया। उमेश और आयुष ने नागपुर के मेडिकल कॉलेज में अच्छी जान-पहचान होने तक का हवाला दिया।
डॉ रीता के जाल में फंसने के बाद उमेश और आयुष उन्हें नागपुर लेकर आए। बर्डी के होटल में रुके। यहीं पर एडमिशन के नाम पर उमेश और आयुष ने डॉ. रीता से १५ लाख रुपए लिए। रुपए देने के बाद भी डॉ. रीता की बेटी का एडमिशन मेडिकल कॉलेज में नहीं हुआ। परेशान होकर डॉ. रीता ने उमेश और आयुष से अपने रुपए वापस मांगे। लेकिन उसके पैसे वापस नहीं हुए। इसके बाद डॉ. रीता ने उमेश और आयुष के खिलाफ गोरखपुर में ही प्रकरण दर्ज कराया है।