सांसद हंसराज हंस के गीतों ने खासदार सांस्कृतिक महोत्सव में समा बांधा


  • सांसद हंसराज हंस के गीतों ने खासदार सांस्कृतिक महोत्सव में समा बांधा
    सांसद हंसराज हंस के गीतों ने खासदार सांस्कृतिक महोत्सव में समा बांधा
    शहर में खासदार सांस्कृतिक महोत्सव के चौथे दिन पंजाबी लोकसंगीत
    1 of 4 Photos
  • Pic1
    Pic1
    1 of 4 Photos
  • Pic2
    Pic2
    1 of 4 Photos
  • Pic3
    Pic3
    1 of 4 Photos

नागपुर : शहर में खासदार सांस्कृतिक महोत्सव के चौथे दिन पंजाबी लोकसंगीत और सूफी गायक और भारतीय जनता पार्टी के सासंद पद्मश्री हंसराज हंस ने अपनी गायकी प्रस्तुत कर शहरवासियों का दिल जीत लिया। पंजाबी लोकसंगीत और सूफी संगीत के गायक हंसराज हंस ने सूफियाना अंदाज में गायकी से समा बांधा और महफिल में चार चांद लगा दिए। उत्तर नागपुर लाल गोदाम के पास स्थित ग्रामीण पुलिस मुख्यालय परेड ग्राउंड पर सोमवार की शाम हंसराज हंस का लाइव इन कॉन्सर्ट आयोजित किया गया था।

महोत्सव के शुभारंभ के पहले हंस का सत्कार शॉल, श्रीफल और स्मृति चिह्न देकर किया गया। इस अवसर पर पूर्व ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, विधायक परिणय फुके, विधायक अनिल सोले, पूर्व विधायक डॉ. मिलिंद माने, संगीतज्ञ पं. प्रभाकर धाकडे, पूर्व महापौर प्रवीण दटके, अनिल भारद्वाज, नवनीत सिंह तुली, परविंदर सिंह, हरदेव सिंह बाजवा आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे। खासदार सांस्कृतिक महोत्सव में कार्यक्रम की शुरुआत गायक हंसराज हंस ने कर ‘जिंदगी भी दी है, तो जीने का हुनर भी देना’ इस गीत ने समां बांध दिया। इसके उपरांत ‘जिन्हे देखने जा रहे हैं, वो परदे पर परदा किए जा रहे हैं’ गजल प्रस्तुत की। फिर सूफी गीत ‘सुनो महाराज जगत के वाली’ ने संगीत महफिल में रंगत भरी। कार्यक्रम की प्रस्तावना प्रा. अनिल सोले ने रखी। संचालन बाल कुलकर्णी ने किया। कार्यक्रम के अंतिम गीत पर सभी ने भांगड़ा कर गीतों का आनंद लिया।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week