आत्मीयता का संबंध जोड़ें - भागवत और गडकरी का लोगों से आवाहन


  • आत्मीयता का संबंध जोड़ें - भागवत और गडकरी का लोगों से आवाहन
    आत्मीयता का संबंध जोड़ें - भागवत और गडकरी का लोगों से आवाहन
    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ।मोहन भागवत ने कहा है
    1 of 5 Photos
  • Pic1
    Pic1
    1 of 5 Photos
  • Pic2
    Pic2
    1 of 5 Photos
  • Pic3
    Pic3
    1 of 5 Photos
  • Pic4
    Pic4
    1 of 5 Photos

नागपुर : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ।मोहन भागवत ने कहा है कि आत्मीयता ही संघ की विचारधारा हैं। वही भागवत ने समाज व राजनीति के मामले में व्यक्तिगत संबंध को सबसे बड़ी ताकत कहा है। कार्यकर्ताओं में नकारात्मकता की वृति को कम करने का काम भी किया जाना चाहिए। भागवत व केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी ने लोगों से आत्मीयता का संबंध जोड़ने का आव्हान किया है। मौका था संघ विचारक विलास फडणवीस की स्मृति में शिक्षाविद विवेक पांढरीकर को पुरस्कार प्रदान करने का, इस अवसर पर विवेक पांढरीकर को एक लाख रुपये का नगद पुरस्कार दिया गया, इस मौके पर भागवत बोल रहे थे ।

शहर में सांइटिफिक सभागृह लक्ष्मीनगर में दान पारमिता संगठन की सहायता से कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, इस मौके पर भागवत व गडकरी ने मंच साझा किया। शुरू में गडकरी ने अपने भाषण में कहा कि विलास फडणवीस के जीवन से प्रतिकूल स्थिति में कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। राजनीति में चमकेस अर्थात प्रचार में आगे रहनेवालों की कमी नहीं है। किन्तु सामाजिक कार्य के लिए आत्मीयता के भाव की आवश्यकता है। कार्यकर्ता में गुणदोष हो सकता है। दोषों को दूर करना संगठन का काम है। गणितीय सूत्र का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अलग अलग बढ़ने के बजाय सब साथ मिलकर बढ़ने का भाव होना ही चाहिए। उत्तम आत्मीयता से ही विचारधारा बनती है। सरसंघचालक डॉ।भागवत ने कहा कि संघ के कार्य का आधार ही शुद्ध सात्विक प्रेम है। संघ के मामले में जिव्हाड़ा अर्थात आत्मीयता ही विचारधारा है। बड़े कार्य करनेवाले महापुरुषों ने भी कमजोरों के विकास के लिए कार्य किया है। इस्तेमाल करने की दृष्टि से नुकसान होता है। दृष्टि ऐसी हो कि सब अपने लगे। चुनाव में परोपकार की प्रवृति देखने को मिलती है। लेकिन परोपकारी स्वभाव प्रेम के बिना नहीं हो सकता है। कार्यक्रम की प्रस्तावना अविनाश संगवई ने की, इस अवसर पर दान पारमिता संगठन के डॉ। विलास डांगरे उपस्थित थे ।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week