जाधव अत्यधिक दबाव में : राजनयिक ने मिलने के बाद कहा



इस्लामाबाद, 2 सितम्बर (आईएएनएस)| भारत ने कहा कि कथित जासूसी के लिए पाकिस्तान द्वारा गिरफ्तार किए गए उसके पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण यादव से मुलाकात के दौरान ऐसा लगा कि उन पर लगाए गए आरोपों को स्वीकार करने के लिए 'उन पर काफी दबाव बनाया जा रहा है।' इस्लामाबाद में भारत के उप-उच्चायुक्त गौरव अहलूवालिया ने सोमवार को जाधव से एक उप-जेल में एक घंटे तक मुलाकात की, जब इस्लामाबाद ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के निर्देशों के अनुसार कांसुलर पहुंच प्रदान की।

वरिष्ठ भारतीय राजनयिक और जाधव के बीच बैठक पहली बार हुई है क्योंकि उन्हें तीन साल पहले कथित जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, बैठक की जगह का खुलासा मामले से जुड़ी संवेदनशीलता के कारण नहीं की गई थी।

बैठक के बाद, विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कहा कि भारत अभी भी एक व्यापक रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है, हालांकि यह स्पष्ट है कि जाधव पर "पाकिस्तान द्वारा गढ़ी गई कहानी को मानने के लिए काफी दबाव डाला गया है और वे अत्यधिक दबाव में दिखाई दिए।"

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक प्रेस वार्ता में कहा, "हम अपने चार्ज डी अफेयर्स की एक विस्तृत रिपोर्ट प्राप्त करने के बाद आईसीजे के निर्देशों के अनुरूप आगे की कार्रवाई का फैसला करेंगे।"

उन्होंने कहा, "चार्ज डी अफेयर्स (इस्लामाबाद में भारत के उच्चायोग) आज (सोमवार को) जाधव से मिले। यह मुलाकात 17 जुलाई, 2019 को दिए गए अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के सर्वसम्मत निर्णय के आलोक में आयोजित की गई, जिसमें पाया गया कि पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन ऑन कंसुलर रिलेशंस, 1963 का भारी उल्लंघन किया है। जिसके बाद पाकिस्तान को जाधव को भारतीय कांसुलर अधिकारियों तक पहुंच प्रदान करने का आदेश दिया गया था।"

प्रवक्ता ने यह भी कहा कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जाधव की मां से बात की है और उन्हें घटनाक्रम की जानकारी दी है।

कुमार ने कहा कि भारत यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि जाधव सुरक्षित रूप से भारत लौट आएं।

जाधव को कथित तौर पर 3 मार्च, 2016 को पाकिस्तानी सुरक्षा बलों द्वारा बलूचिस्तान से 'गिरफ्तार' किया गया था। अप्रैल 2017 में, उन्हें एक सैन्य अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी, जिसके बाद भारत यह मामला आईसीजे में लेकर गया था।

पाकिस्तान ने दावा किया है कि जाधव को ईरान से देश में प्रवेश करने के बाद गिरफ्तार किया गया था। भारत ने, हालांकि, पाकिस्तान के दावों को खारिज कर दिया है और हमेशा यह कहा है कि जाधव का उस समय अपहरण किया गया था जब वह एक व्यापार यात्रा पर ईरान में थे।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week