उर्जित पटेल ने बैंक प्रणाली को अराजकता से निकाला साथ मोदी ने अनुशासन के लिए प्रेरित किया



रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल ने आज अपने पद से इस्तीफा दे दिया. वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी प्रशंशा करते हुए कहा की “उर्जित अपने पीछे के एक महान विरासत छोड़कर जा रहे हैं. हम उन्हें और उनके काम को याद करेंगे.

डॉ उर्जित पटेल मैक्रो-इकोनॉमिक मुद्दों की गहरी समझ रखने के साथ-साथ एक बहुत ही उच्च क्षमता वाले अर्थशास्त्री भी हैं. उन्होंने बैंकिंग प्रणाली को अराजकता से निकाला साथ ही इसे अनुशासन के लिए प्रेरित किया। उनके नेतृत्व में, आरबीआई वित्तीय स्थिरता लाने में सफल हुई. वह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया में लगभग 6 वर्षों के लिए उप गवर्नर और गवर्नर के रूप में रहे हैं. अपने पीछे एक महान विरासत छोड़ रहे हैं.

गौरतलब है कि उर्जित ने अगस्त 2016 गवर्नर का पदभार संभाला था. वह आरबीआई के गवर्नर बनाए जानेे से पहले डिप्टी गवर्नर के पद पर कार्य कर रहे थे. पटेल ने इस्तीफे को निजी कारण बताया है. उन्होंने कहा कि आरबीआई में अपनी सेवाएं देकर मैं खुद को सम्मानित महसूस करता हूं. पटेल आरबीआई के 24वें गवर्नर थे.

वही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने कहा कि ” विपक्षी नेताओं के बैठक के बीच में, हमें बताया गया कि आरबीआई गवर्नर ने इस्तीफा दे दिया क्योंकि वह अब सरकार के साथ काम नहीं कर पा रहे. कमरे में सर्वसम्मति थी कि हमें सीबीआई, आरबीआई, ईसी और संविधान पर हमारे संस्थानों पर बीजेपी के हमले को रोकना होगा.उन्होंने कहा कि आरबीआई के गर्वनर इस्तीफा दे रहे हैं क्योंकि वह आरबीआई की रक्षा कर रहे हैं. मुझे गर्व है कि ये सभी लोग इसके खिलाफ खड़े हो रहे है.



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week