परीक्षा होने के कई माह बाद भी सीआईएमसी कॉलेज के १५० छात्रों को नहीं मिली मार्कशीट


  • परीक्षा होने के कई माह बाद भी सीआईएमसी कॉलेज के १५० छात्रों को नहीं मिली मार्कशीट
    परीक्षा होने के कई माह बाद भी सीआईएमसी कॉलेज के १५० छात्रों को नहीं मिली मार्कशीट
    उपराजधानी के बैद्यनाथ चौक स्थित सेंट्रल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन में प्रवेश लेने वाले...
    1 of 1 Photos

नागपुर : उपराजधानी के बैद्यनाथ चौक स्थित सेंट्रल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन में प्रवेश लेने वाले १५० स्टूडेंट्स का भविष्य दांव पर है। बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ के आदेश पर स्टूडेंट्स की विशेष परीक्षा ली गई थी। जिसके चलते यूनिवर्सिटी ने इनका परीक्षा परिणाम तो जारी कर दिया है, किन्तु परीक्षा हुए कई माह बीत जाने के बाद भी स्टूडेंट्स को अब तक उनकी मार्कशीट नहीं मिली है। इस वजह से उन्हें आगे की पढ़ाई करने या नौकरी ढूंढ पाने में मुश्किल हो रही है। इस संबंध में हाल ही स्टूडेंट्स  के प्रतिनिधिमंडल ने यूनिवर्सिटी  के आला अधिकारियों से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा है। फैशन डिजाइनिंग और जर्नलिज्म के इन स्टूडेंट्स ने यूनिवर्सिटी से विनती कि है कि वे उनकी मार्कशीट कॉलेज को न भेजकर सीधे उन्हें सौंप दें, क्योंकि कॉलेज प्रबंधन की ओर से उनसे मार्कशीट के एवज में पूरे पाठ्यक्रम की फीस मांगी जा रही है। स्टूडेंट्स ने यूनिवर्सिटी से की गई अपनी शिकायत में कॉलेज में जमा की गई परीक्षा फीस की रसीदें भी जोड़ी हैं।  

प्रबंधन की ओर से बताये जानेवाले कारण

१) परीक्षा नियंत्रक डॉ.नीरज खटी का दावा है कि विश्वविद्यालय को कॉलेज की ओर से अभी तक फीस प्राप्त नहीं हुई है, लिहाजा यूनिवर्सिटी उनकी  मार्कशीट जारी नहीं कर सकता। 

२) कॉलेज संचालक सुनील मिश्रा का कहना है कि नागपुर यूनिवर्सिटी ने इन स्टूडेंट्स को पहले ही दूसरे कॉलेजों में समायोजित कर लिया है, लिहाजा उनके सारे दस्तावेज उन कॉलेजों की जिम्मेदारी है। उनके पास किसी स्टूडेंट् के दस्तावेज नहीं हैं। 

३) कॉलेज संचालक ने यह भी दावा किया कि यह मामला कोर्ट के विचाराधीन था। कोर्ट के आदेश के अनुरूप ही सारी कार्रवाई हुई है। कई स्टूडेंट्स को तो उनके दस्तावेज भी मिल चुके हैं। 

४) स्टूडेंट्स का कहना है कि बीते कई दिनों से वे विश्वविद्यालय और काॅलेज के चक्कर काट रहे हैं। मगर उन्हें यहां से वहां भेजा जा रहा है। उन्हें जल्द से जल्द मार्कशीट मिलनी चाहिए, ताकि उनके भविष्य पर संकट न आए। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week