एक छात्र, 3 कोचिंग, क्या है मामला?


  • एक छात्र, 3 कोचिंग, क्या है मामला?
    एक छात्र, 3 कोचिंग, क्या है मामला?
    अब जब कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परिणाम, सीबीएसई और राज्य बोर्ड दोनों के साथ-साथ जेईई, नीट और इसी तरह की अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के परिणाम सामने आए हैं
    1 of 4 Photos
  • 1 of 4 Photos
  • 1 of 4 Photos
  • 1 of 4 Photos

अब जब कक्षा 10 वीं और 12 वीं के परिणाम, सीबीएसई और राज्य बोर्ड दोनों के साथ-साथ जेईई,  नीट और इसी तरह की अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के परिणाम  सामने आए हैं, तो ये तो आम बात है कि कोचिंग क्लासेस अपने यहाँ के टॉपरों को प्रदर्शित करते हुए पूरे पृष्ठ के विज्ञापन करेगी ही खेर NEET 2019 के नतीजों घोषित होने के बाद एक घटना ने सबको सोच में दाल दिया है, दरअसल  तीन प्रमुख ट्यूशन वर्गों ने एक ही टॉपर की फोटो अपने विज्ञापन में लगायी, जिससे हर छात्र और अभिभावक चकित है।

 हम बात कर रहे है आकाश, प्रिंस एड्यू हब और एलन ट्यूशन वर्ग की जिसने जयपुर शहर के नीट टॉपर नलिन खंडेलवाल को पढ़ाया है। तीन संस्थानों द्वारा प्रकाशित पूर्ण पृष्ठ के विज्ञापनों में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि नलिन उनका छात्र है।

हालाँकि, संस्थानों के दावे पूरी तरह से निराधार नहीं हैं, क्योंकि जब इस मामले की जांच की गई  तो कुछ चौंकाने वाली बातें सामने आयी।

जानकारी के अनुसार अब ऐसा चलन हो गया है कि विद्यार्थी सम्बंधित ट्यूशन क्लास में एक दिन की भी क्लास या एक ही सब्जेक्ट की क्लास भी लगाते हैं तो वह विद्यार्थी अगर टॉप कर जाता है तो सभी ट्यूशन क्लासेस यह बताते हैं कि टॉपर विद्यार्थी हमारी क्लास का है भले ही वो विषय जिसकी विद्यार्ति ने क्लास लगायी उसमे उसे कितने भी अंक मिल जाये, कोई फर्क नहीं पड़ता ।

अगर नलिन की बात करे तो एलन ने नलिन को ऑल इंडिया रैंक 1 बताया है और क्लासरूम कोर्स में दिखाया हुआ है जबकी आकाश ने कोर्स डिस्टेंस के नाम से फोटो दिया है तो देखा जाये तो ये खबर पूरी तरह से गलत नहीं है।

यहाँ तो हमे इस घटना के पीछे की वजह पता चल गयी लेकिन ऐसी घटना  कई बार होती है जिसको देखके लोग अचंबित हो जाते है कि एक ही विद्यार्थी इतनी जगहों पर ट्यूशन कैसे ले सकता है.



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week