क्रिकेट सट्टे में बर्बाद होने पर ऑटोरिक्क्षा चालक ने की आत्महत्या



नागपुर : कोई शौक कभी किसी इंसान की जिंदगी ख़त्म कर सकती है इसका जीता जगता उदाहरण शहर में देखने आया । वाकया हुड़केश्वर थानांतर्गत हुआ। क्रिकेट सट्टे के शौंक ने एक परिवार के मुखिया को फांसी लगाने को मजबूर कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। बरामद सुसाइड के आधार पर मामला दर्ज किया गया है।  


प्राप्त जानकारी के अनुसार सारबांधे ले-आउट निवासी संजय वामनराव इंगले ५० वर्ष ऑटो रिक्क्षा चालक था। वर्ष २०१४ से संजय को क्रिकेट पर सट्टा लगाने का शौंक लगा। कमाई के आधे से ज्यादा रुपए वह उसी में उड़ा देता था। इस चक्कर में कुछ दिनों बाद उसने ऑटो चलाना ही बंद किया था। स्टैंड पर ऑटो खड़ा कर देता और सट्टा खेलने चले जाता था। बाद में दोस्तों मित्रों और साहूकार से ब्याज पर रुपए लेकर भी सट्टा खेलने लगा था। पूछे जाने पर पत्नी योगिता ने बताया कि पति संजय के सट्टा खेलने के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं थी। वह काम पर भी कर्जे की वजह से नहीं बल्की खुद की मर्जी से जा रही है। संजय ने कभी उसे काम पर जाने के लिए नहीं कहा था। इस बीच संजय ने एक बैंक से भी कर्जा लिया था। बैंक, साहूकार और अन्य लेनदारों से त्रस्त होकर आखिरकार मंगलवार को संजय ने फांसी लगाकर जान दे दी । पुलिस मामले की जांच कर रही है।



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today

Video Of The Week