दिल्ली में हिंसा : महाराष्ट्र के नेताओं ने भाजपा पर निशाना साधा, शांति की अपील की

January 27,2021

मुंबई, | नई दिल्ली में मंगलवार को किसान आंदोलन के हिंसक हो जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए, महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी को 'अहंकारी, असंवेदनशील' करार दिया। उन्होंने साथ ही लोगों से शांति की अपील की। हिंसा के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराते हुए, एनसीपी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने और स्थिति को नियंत्रित करना सरकार का कर्तव्य था, लेकिन वे पूरी तरह से विफल रहे।

उन्होंने कहा, "60 दिनों से, किसान शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वे पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश से हैं और अनुशासित तरीके से आंदोलन किया है। हालांकि, सरकार ने उन्हें गंभीरता से नहीं लिया और जैसे ही उनका संयम समाप्त हुआ, ट्रैक्टर मार्च निकाला गया।"

यह कहते हुए कि राष्ट्रीय राजधानी में जो कुछ भी हुआ है, उसका कोई भी समर्थन नहीं करेगा।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि जब किसान लाल किले में प्रवेश कर रहे थे, उस वक्त सरकार क्या कर रही थी?

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट ने हिंसा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के 'अहंकार' को जिम्मेदार ठहराया।