भीम आर्मी प्रमुख आजाद ने संघभूमि में फहराया तिरंगा : किया २३ को भारत बंद का आव्हान

February 23,2020

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने शनिवार को शहर के रेशिमबाग स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के डॉ हेडगेवार स्मुर्ती मंदिर  कार्यालय

नागपुर : भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने शनिवार को शहर के रेशिमबाग स्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के डॉ हेडगेवार स्मुर्ती मंदिर  कार्यालय के बाहर तिरंगा फहराते हुवे विशाल जनसभा को सम्बोधित किया। भाषण में उन्होंने कहा भाजपा को आरएसएस ही चलाता है। संविधान की बात की जाती है और मनुस्मृति का एजेंडा चलाया जा रहा है। सरसंघचालक डॉ.मोहन भागवत के बारे में कहा कि वे झूठ का चोला उतारकर चुनाव में सीधे शामिल हो। उन्हें जनता का जवाब मिल जायेगा। आगे उन्होंने यह भी कहा कि नागरिकता को लेकर आंदोलन जारी रहेगा। राज्य में एनआरसी को नहीं रोका गया तो राज्य सरकार के विरोध में भी आंदोलन किया जाएगा।
बता दे शुक्रवार को चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट करते हुए कहा था, ‘मैं कल को २ बजे रेशमबाग नागपुर आ रहा हूं। फर्जी राष्ट्रवादियों का संगठन आरएसएस जिसने आज तक तिरंगे को सम्मान नही दिया कल हम उनके हेडक्वार्टर के सामने तिरंगा फहराएंगे। मैं चाहूंगा कि कल सभी साथी रेशमबाग तिरंगा लेकर पहुंचे और बता दें कि इनके भगवे पर हमारा तिरंगा भारी है। सभा में आजाद ने मनुवाद हारेगा अम्बेडकरवाद जीतेगा ऐसी घोषणा की।
वही आजाद के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने लिखा है, ‘चंद्रशेखर को इस अभियान के लिये बधाई। इस अभियान में तिरंगा ले कर सभी को शामिल होना चाहिए। भारत माता की जय जय जय।’

आजाद ने २३ फरवरी को किया है भारत बंद का आव्हान

सुप्रीम कोर्ट के प्रमोशन में आरक्षण को लेकर दिए गए फैसल का विरोध भी शुरु हो गया है। इसके लिए २३ फरवरी को भीम आर्मी ने भारत बंद बुलाया है। भीम आर्मी ने इसके विरोध में दिल्‍ली में एक रैली भी निकाल चुका है। विरोध के अगले क्रम में अब भारत बंद का आह्वान है।
चंद्रशेखर ने ओबीसी, एससी-एसी और अल्पसंख्यक वर्ग के नेताओं से भी भारत बंद में शामिल होने की अपील की है। भीम आर्मी प्रमुख ने चेतावनी भी दी है कि इस आंदोलन में पिछड़े और दलित वर्ग के सांसद और विधायक इसको समर्थन नहीं देते है तो उनके घरों के बाहर भी प्रदर्शन किया जाएगा।
भीम आर्मी के भारत को बिहार में महागठबंधन ने पूरा समर्थन दिया है। वही महागठबंधन में शामिल सभी दलों ने इसमें शामिल होने की बात कही है। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के नेताओं ने भारत बंद के दौरान बिहार के जिलों में सड़कों पर उतरने की बात कही है। इसके अलावा राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी और विकासशील इंसान पार्टी ने कहा कि इस भारत बंद का बिहार में व्यापक असर देखने को मिलेगा।